आर एस एस ने मनाया हिंदवी स्वराज दिवस : प्रमोद जी
June 5, 2020 • गुरुकुल वाणी


सलेमपुर (देवरिया)। 'जब पूरे देश में हिंदुओं पर अत्याचार हो रहे थे, हिंदुओं पर औरंगजेब का अत्याचार चरमोत्कर्ष पर था ऐसे समय में छत्रपति शिवाजी महाराज ने हिंदू धर्म और संस्कृति की रक्षा कर धर्म ध्वजा लहराई।' उक्त बातें अपने संबोधन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला कार्यवाह प्रमोद श्रीवास्तव जी ने व्यक्त किया। वे बृहस्पतिवार को संघ कार्यालय में हिंदवी स्वराज दिवस की स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य वक्ता बोल रहे थे।
     उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की विचारधारा और इसका लक्ष्य वृहत्तर भारत की परिकल्पना कर परम वैभव को प्राप्त करना है। बौद्धिक के पूर्व इस अवसर पर उपस्थित सभी स्वयंसेवकों और पदाधिकारियों ने हवन किया और हवन कुंड में आहुतियां डाली साथ ही अपने संकल्प को दोहराया। सभी ने राष्ट्र देवता के प्रति अपनी प्रतिबद्धता प्रदर्शित करते हुए निरंतर संघ कार्य करते रहने को कहा।
संघ के वरिष्ठ कार्यकर्ता इन्द्रहास पाण्डेय उर्फ पप्पू पाण्डेय ने कहा कि हिंदवी साम्राज्य की स्थापना छत्रपति शिवाजी महाराज से बेहतर कोई कर ही नही सकता था।उन्होंने अपने साम्राज्य विस्तार की नीति में गुरिल्ला युद्ध नीति को अपना कर हिंदवी साम्राज्य की स्थापना की।
  इस अवसर पर जिला प्रचारक प्रवीण जी, नगर संघचालक दीनदयाल जी और खंड संघ चालक सरदार दिलावर सिंह ने संघ कार्यकर्ताओं के साथ कार्यालय पर भगवा ध्वज भी लगाया।और सबसे अपने अपने घर पर  ॐ अंकित भगवा ध्वज,स्वस्तिक,लगाने का आग्रह भी किया।
इसमें नगर संघचालक माननीय दीनदयाल मिश्र जी, खंड संघचालक माननीय दिलावर सिंह जी, सह जिला कार्यवाह करुणेश जी, जिला प्रचारक प्रवीण जी, जिला संपर्क प्रमुख वेदप्रकाश जी, जिला प्रचार प्रमुख गिरजेश सिंह जी, नगर कार्यवाह मदनमोहन जी, नगर प्रचार प्रमुख डा0 राजेश जी, नगर सेवा प्रमुख बीरेंद्र जी, खंड कार्यवाह शंभूनाथ जी, नित्यानंद जी, इंद्रहास जी, प्रशांत जी, बिनु जी, कृष्णा जी, श्याम जी,  भाजपा नेता जयनाथ कुशवाहा, सुमंत जी, प्रदीप जी सहित सैकड़ों स्वयंसेवकों ने भाग लिया।

 

रवीश पाण्डेय की रिपोर्ट