*अपर मुख्य सचिव ने नगर के साफ- सफाई कार्यों का निरीक्षण* 
July 12, 2020 • गुरुकुल वाणी

*सलेमपुर में साफ-सफाई समुचित नहीं पाए जाने पर जताया नाराजगी।*

 *दो अभियंताओं को दिया प्रतिकूल प्रविष्टि*

*देवरिया 11 जुलाई।* अपर मुख्य सचिव एवं जनपद के नोडल अधिकारी राजन शुक्ला आज नगर में साफ- सफाई , कूड़ा डंपिंग का जायजा लिया तथा आवश्यक निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया। मंडी समिति में साफ- सफाई तथा शहर में कूड़ा  प्रबंधन समुचित  नहीं पाये जाने पर नाराजगी जताई।  साथ ही उन्होंने साफ सफाई और कूड़ा प्रबंधन की समुचित व्यवस्था बनाए जाने का सख्त निर्देश दिया।
       अपर मुख्य सचिव श्री शुक्ला सबसे पहले मंडी समिति का निरीक्षण किया। साफ -सफाई पर असंतोष जताया तथा  इक्कठे सड़े -गले फलों को त्वरित रूप से हटाए जाने का निर्देश दिया। उन्होंने दुकानों के आगे की नालियों को सफाई कराए जाने का निर्देश दिया। उन्होंने साफ- सफाई व सैनिटाइजेशन का कार्य मंडी के पूरे परिसर में समय-समय पर कराए जाने का निर्देश मंडी सचिव को दिया। उन्होंने कहा कि संचारी रोग अभियान, साफ -सफाई एवं एहतियाती उपायों व जन जागरूकता पर ही निर्भर है, इसलिए सभी अधिकारी इस अभियान को सफल बनाने के लिए पूरी तत्परता से कार्य करें। 
        इसके उपरांत पूरवा चौराहे पर चेक प्वाइंट पहुंचे, तैनात पुलिसकर्मियों से मास्क नहीं लगाने वाले लोगो पर जुर्माने की स्थिति की जानकारी की।  कहा कि मास्क लगाना अनिवार्य है। बिना मास्क दंडनीय है और 500 रुपए जुर्माने का प्राविधान है। इसके उपरांत पूरवा में ही कूड़ा डंपिंग स्थल को देखा, कड़ी नाराजगी व्यक्त की तथा कूड़ा प्रबंधन की समुचित व्यवस्था बनाए जाने का निर्देश दिया।

           निरीक्षण उपरांत अपर मुख्य सचिव विकास भवन के गांधी सभागार में जनप्रतिनिधियों से मिले। इस दौरान सलेमपुर सांसद रविंद्र कुशवाहा, सदर विधायक जन्मेजय सिंह,सदर सांसद प्रतिनिधि एवं पूर्व विधायक रविंद्र प्रताप मल ने जनहित से जुड़े समस्याओं की जानकारी दिए तथा उसका समाधान भी कराए जाने को कहा।
 *सलेमपुर* नोडल अधिकारी श्री शुक्ला सलेमपुर नगर निकाय में सफाई कार्यो का जायजा के दौरान कई जगह कूड़ा होने एवं साफ सफाई नहीं पाए जाने पर आक्रोश व्यक्त करते हुए अधिशासी अधिकारी अंकिता सिंह को सफाई कार्य को समुचित रूप से कराए जाने का निर्देश दिया। तहसील के निकट मुत्रालय में काफी गंदगी पाए जाने पर भी वे नाराज हुए और इसमें  पानी आदि कनेक्ट करते हुए सुव्यवस्थित करने का निर्देश दिया। निरीक्षण मे ही विवेक इलेक्ट्रिकल वर्क शॉप पर 5 लोगों को बिना मास्क लगाए बैठे जाने पर उनपर  पांच-पांच सौ रुपये का जुर्माना लगाए जाने हेतु कोतवाल सलेमपुर को निर्देशित किया।
          पयासी गांव के निरीक्षण में बताया गया कि नलकूप संख्या 643 से नाली के अभाव में सिनचन क्षमता संख्या शून्य है। नोडल अधिकारी ने इसे गंभीरता से लिया और अधिशासी अभियंता बलवंत कुमार को फटकार लगाई और कहा कि मनरेगा से नाली निर्माण के पूर्व से ही निर्देश दिए गए हैं, इसमें अधिशासी अभियंता की शिथिलता को लेकर उन्हें प्रतिकूल प्रविष्टि दिए जाने को कहा। इसी गांव में जल निगम की टंकी से पेयजल की आपूर्ति अभी नहीं होने पर जल निगम के जे ई को भी प्रतिकूल प्रविष्टि दिए जाने को कहा। ग्राम वासियों द्वारा कोटेदार द्वारा राशन आपूर्ति किए जाने की सराहना की गई।इस गांव के अतिरिक्त पी एच सी की साफ सफाई कराए जाने एवं चिकित्सकों की नियमित रूप से तैनाती किए जाने का निर्देश ए सी एम ओ डा सुरेंद्र सिंह को उन्होंने दिया। इस स्वास्थ्य केंद्र में आरो हेड टैंक की पानी का सप्लाई मोटर के अभाव में बंद होने पर, उन्होंने तत्कालिक रूप से इस संबंध में कार्रवाई किए जाने हेतु अधिशासी अभियंता जल निगम को निर्देशित किया।उन्होंने एक ग्राम पंचायत अंतर्गत आने वाले राजस्व ग्रामों में एक ही लेखपाल की तैनाती किए जाने को कहा।
      इसके उपरांत जिला चिकित्सालय अंतर्गत एमसीएच विंग का निरीक्षण कोविड-19 हॉस्पिटल की व्यवस्थाओं को लेकर किया तथा आवश्यक निर्देश दिए।
        इस दौरान जिलाधिकारी अमित किशोर, मुख्य विकास अधिकारी शिव शरणप्पा जी0एन0, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सुमित यादव, जिलाधिकारी प्रशासन राकेश कुमार पटेल, जिला विकास अधिकारी श्री कृष्ण पांडेय, डी पी आर ओ आनंद प्रकाश, डी सी मनरेगा गजेंद्र त्रिपाठी,एस0डी0एम0सदर दिनेश कुमार मिश्र, क्षेत्राधिकारी निष्ठा उपाध्याय, ई0ओ0नगरपालिका एस0पी0 सिंह,अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी अशोक कुमार, बी डी ओ राजेश कुमार गुप्ता, ग्राम प्रधान पति राजेश मिश्र, ग्रामवासी गण व अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।