*भटनी-औंडिहार रेलमार्ग पर जुलाई से दौड़ने लगेंगी इलेक्ट्रिक ट्रेनें* 
June 21, 2020 • गुरुकुल वाणी

सलेमपुर, देवरिया। पूर्वोत्तर रेलवे के गोरखपुर-वाराणसी रेलमार्ग पर भी ट्रेनों की रफ्तार बढ़ जाएगी। गाड़ियों का समय- पालन दुरुस्त तो होगा ही पर्यावरण भी संरक्षित होगा। वाराणसी मंडल के भटनी-औंड़िहार रेलमार्ग पर विद्युतीकरण के बाद रेलवे प्रशासन ने इलेक्ट्रिक इंजन का ट्रायल भी पूरा कर लिया है। अब रेल संरक्षा आयुक्त के निरीक्षण का इंतजार है। उनकी हरी झंडी के बाद जुलाई से इलेक्ट्रिक इंजनों से ट्रेनें चलने लगेंगी।

रेल संरक्षा आयुक्त् की हरी झंडी के बाद शुरू हो जाएगा इलेक्ट्रिक इंजनों से ट्रेनों का संचलन

125 किमी लंबे रेलमार्ग पर भटनी- किड़िहरापुर के बीच 18 को तथा औंड़िहार-इंदारा के बीच 19 जून को इलेक्ट्रिक इंजन का ट्रायल सफलता पूर्वक संपन्न हुआ। रेल संरक्षा आयुक्त के निरीक्षण की भी तैयारी जोरशोर से चल रही है। अब यह रेलमार्ग भी गोरखपुर-छपरा व छपरा-वाराणसी मुख्य विद्युतीकृत मार्ग से जुड़ जाएगा।

_संकृत्यायन रवीश पाण्डेय_