*नेता कहाँ है ? समस्या का समाधान
July 30, 2020 • गुरुकुल वाणी

_विधायक प्रतिनिधि का घर बरसात के पानी मे लबालब_

_घर से निकलना हुआ दूभर,नगर पंचायत में स्थित है घर_

_शासन-प्रशासन के लोग नही सुनते भाजपा कार्यकर्ताओं की बात_
*सांकृत्यायन रवीश पाण्डेय द्वारा*
सलेमपुर,देवरिया। आदर्श नगर पंचायत सलेमपुर के वार्ड नम्बर 13 में स्थित विधायक प्रतिनिधि उमाकांत मिश्रा का मकान बरसात के पानी मे पिछले लगभग एक महीने से लबालब डूबा पड़ा है।जिससे घर के सदस्य मकान के छत पर रहने को विवश हो गए हैं,तथा पालतू पशु सड़क पर शरण लिए हुए हैं।दैनिक कार्यो के लिए घर के सदस्यों को घुटने भर पानी पार कर के जाना पड़ रहा है।शौचालय के टँकी में बरसात का जल भर जाने के कारण गंदगी पानी मे तैर रहा है।परिवार के लोग जलजनित बीमारियों से ग्रसित हैं स्थानीय प्रशासन के लोग सूचना देने के बाद भी इसे गंभीरता से नही लिया गया और मौके से जलनिकासी हेतु कोई उपाय अभी तक नही किया गया है।बताते चलें कि पिछले वर्ष भी जलजमाव के कारण लोग काफी मुसीबत झेलने को विवश रहे और कई महीनों तक जलजमाव की समस्या बनी रही इस बात को संज्ञान में लेते हुए तत्कालीन जिला अधिकारी अमित किशोर ने मास्टर प्लान बनाकर जलजमाव की समस्या के निराकरण हेतु नगर पंचायत को निर्देशित करते हुए जलनिकासी की व्यवस्था करने को कहा था।परंतु दूसरे  बरसात में समस्या के समाधान हेतु कोई प्रयास नही किया गया।
नगर पंचायत द्वारा यह कहा जाता रहा कि जिलाधिकारी महोदय अपने बजट से क्यों नही समस्या का समाधान करा दे रहे हैं।
ये तथाकथित जनप्रतिनिधि जनता की समस्या के समाधान का दावा करते हैं जबकि उनके अपने निजी समस्या का समाधान नही हो पा रहा है।यह भाजपा कार्यकर्ताओं के उपेक्षा का जीता जागता उदाहरण है।
सलेमपुर में सांसद, विधायक, स्थानीय निकायों के जनप्रतिनिधि सभी भारतीय जनता पार्टी से हैं।जनता को सत्ता पक्ष का जनप्रतिनिधि चयन करने का सजा कहा जा सकता है।डबल इंजन के सरकार की इससे बड़ी असफलता क्या हो सकती है। जनता ने सेंटजेवीएर्स स्कूल  ईचौना से चकरवां आश्रयदास ,गुमटही तक इस मार्ग से जाने हेतु 11 हजार का इनाम भी रखा था।लेकिन कोई भी जनप्रतिनिधि आगे नही आया।