ब्रेकिंग न्यूज : 17 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, नहीं खुलेंगे स्कूल-कॉलेज
May 1, 2020 • गुरुकुल वाणी

देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण को खतरे को देखते हुए सरकार ने तीसरी बार लॉकडाउन की अवध‍ि बढ़ाकर 17 मई कर दी है. इस दौरान स्कूल कॉलेज भी बंद रहेंगे. वहीं सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं का इंतजार कर रहे अभ‍िभावकों और छात्रों को अभी और इंतजार करना होगा.

देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए 17 मई तक लॉकडाउन फिर से बढ़ा है. सरकार ने कहा है कि इस लॉकडाउन के दौरान सभी स्कूल-कॉलेज शिक्षण संस्थान, बस, हवाई जहाज, रेलवे और मेट्रो 17 मई तक बन्द रहेंगे. इसके अलावा बड़े बाजार, शॉपिंग काम्प्लेक्स और मॉल भी बंद रहेंगे.

ऑरेंज और ग्रीन जोन में कुछ शर्तों के साथ छूट दी जाएगी. बता दें कि हाल ही में यूजीसी टास्क फोर्स की सिफारिशों के आधार पर सरकार ने फैसला लिया था कि ग्रीन जोन में विश्वविद्यालय परीक्षाएं करा सकेंगे. फिलहाल लॉकडाउन 3.0 के बाद सरकार की तरफ से दोबारा इस पर मुहर नहीं लगाई गई है.

जानें सरकार ने क्या कहा था

बीते 29 अप्रैल को मानव संसाधन विकास मंत्री ने डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा था कि विश्वविद्यालय नियंत्रित क्षेत्रों में, जुलाई में अंतिम परीक्षा आयोजित करेंगे. इसी के अनुसार सत्र स्थानांतरित किया जाना है.

उन्होंने कहा था कि बुरी तरह से प्रभावित क्षेत्रों (रेड जोन) क्षेत्र के छात्रों को 50 प्रतिशत आंतरिक मूल्यांकन और पिछली सेमेस्टर के 50 प्रतिशत के आधार पर प्रमोट किया जाएगा.

एक अगस्त से शुरू होंगे एडमिशन

मानव संसाधन विकास मंत्री निशंक ने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) टास्क फोर्स के सुझाव के आधार पर बुधवार को कई निर्णय लिए. उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस महामारी के कारण 2020-21 का नया सत्र एक अगस्त से पुराने छात्रों के लिए और एक सितंबर को नए छात्रों के लिए शुरू हो सकता है. बता दें कि सरकार ने ये भी स्पष्ट किया कि एक अगस्त से नए छात्रों के लिए कॉलेज प्रवेश शुरू करेंगे.

वर्तमान और पिछले सेमेस्टर के आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर इंटरमीडिएट सेमेस्टर के छात्रों को ग्रेड दिया जाएगा, वहीं जिन राज्यों में कोविड-19 की स्थिति सामान्य हुई है, वहां जुलाई के महीने में परीक्षा होगी. टर्मिनल सेमेस्टर के छात्रों की परीक्षा जुलाई के महीने में आयोजित की जाएगी.

प्रत्येक विश्वविद्यालय में एक कोविड-19 सेल का गठन किया जाएगा जो शैक्षणिक कैलेंडर और परीक्षाओं से संबंधित छात्रों के मुद्दों को हल करने के लिए सशक्त होगा. तेजी से निर्णय लेने के लिए यूजीसी में एक कोविड-19 सेल भी बनाया जाएगा.

कैसे होंगी सीबीएसई परीक्षा

बता दें कि इंडिया टुडे से खास बातचीत में 29 अप्रैल को सीबीएसई बोर्ड अनुराग त्रिपाठी ने कहा था कि अगर सरकार उन्हें दस से 12 दिन का समय दे तो बोर्ड 12वीं की बची हुई मेन विषयों की परीक्षाएं करा लेगा. लेकिन अब लॉकडाउन की अवध‍ि फिर से बढ़ने के बाद परीक्षाएं कराने की योजना कितना आगे जाती है. सीबीएसई सचिव ने सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के साथ सरकार से उत्तर पुस्त‍िकाओं के मूल्यांकन की इजाजत भी मांगी है. फिलहाल सरकार द्वारा तीसरी बार लॉकडाउन बढ़ाने के बाद सीबीएसई की ओर से अभी तक कोई प्रतिक्र‍िया नहीं दी गई है.

तीसरे लॉकडाउन के बाद होंगे ये बदलाव-

देश में ग्रीन जोन के 319 जिलों में 50 फीसदी लोगो के साथ बसों को चलाने की छूट दी जाएगी. दोपहिया वाहन पर एक व्यक्ति और 4 पहिया वाहन में सिर्फ दो व्यक्ति बैठ सकेंगे और इनको कुछ शर्तों के साथ छूट दी जाएगी लोग अपने राज्य में मूवमेंट कर सकेंगे.