चीनी सामानो का बहिष्कार ही शहीदों की सच्ची श्रद्धांजलि : शिवाकान्‍त तिवारी
June 18, 2020 • गुरुकुल वाणी

भारत और चीन एक  पड़ोशी देश है  लेकिन तुलना किया जाय  तो भारत  का  नागरिक हमेशा चीन से  हर  तरह से  बड़ा है  क्योकी आर्थिक  रुप से देखा  जाय  तो  चीन  का  सामान  भारत  में सर्वाधिक  बिक  रहा है  लेकिन  भारत  वह  देश  है  जिसकी  मिट्टी  की  सुगन्ध  एेशी  है  कि  विश्व के  कोने -कोने  तक   महक  रही है  भारत लोकतांत्रिक देश  है  जो  शांति  का  संदेश  विश्व  को  देता है  लेकिन आज चीन भारत को आँख  दिखा रहा है  तथा मनमाने तरीके से अपने  धोखे  की  चाल  को  प्रदर्शित  कर रहा है  विश्व  में  चर्चा है कि चीन कारोना  महमारी का जनक है  इस चीन  देश  ने  भारत  देश  को ही  नही  बल्की  विश्व  को  तबाही  मे  डाल दिया है  जो आतंक  का  पर्याय है l  भारत  स्वाभिमानी राष्ट्र है  पहले  किसी  को  छेड़ता नही लेकिन  कोई  छेड़  दे  तो  उसे  छोड़ता  भी नही है  आज  विश्व के राजनीतिक  दृष्टी  के  प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी  भारत  देश के  प्रधानमंत्री  है  जिनका  निर्णय  लेने  छमता  का  पुरा  देश  कायल है  वो  बोलने की  गति  को जब  कम  करते  हैं  तो  लगता है  की  कुछ  अच्छा होने  वाला है l   भारत  की  सेना  का  शौर्य की  गाथा  विश्व जानता  है  इसलिये  देश की  तरक्की  करनी  है  तो  भारत  से  चीन  की  बस्तु  को  बिकना  बंद  करना  होगा  आर्थिक  रुप से तंगी  मे  जो  देश  आयेगा  उसका  विकास  होना  मुश्किल  होगा  इसलिये  एक  लेखक  होने के  नाते मैं  शिवाकांत  तिवारी  आज देश  की  जनता  से  अपिल  करता  हूँ  कि  चीन  के  बस्तु  का  प्रयोग  अपने  जीवन  काल  से  बाहर  करे  जीससे  राष्ट्र  मजबुत हो  भारत  का  विकास  के  लिये  व  देश के  शहीदो  की  कुर्बानी  का  बदला  लेने के लिए भारत मे  चीन का  माल  बिकना  खरीदना  बन्द  हो l  जीससे  शहीदो  की  आत्मा को श्रधांजली  व  उनके  परीवार  के  लिये  देश  संवेदना  व्यक्त  कर  सके l जय  हिन्द,  जय  भारत,