देवरिया : डीजल-पेटोल टैंकर चालको की तीन दिनो से हड़ताल 
March 18, 2020 • गुरुकुल वाणी
 
भारत पेट्रोलियम के टैंकर चालक ईएम लॉक का कर रहे है विरोध
 
नेपाल व यूपी के 10 जिलों में हो सकता है तेल संकट

देवरिया। देवरिया के बैतालपुर डिपो में भारत पेट्रोलियम के टैंकर चालक अपनी मांगों को लेकर दूसरे दिन बुधवार को भी हड़ताल पर हैं।चालक तेल भरने के पश्चात टैंकरों में रिमोट कंट्रोल लांक लगाए जाने का विरोध कर रहे हैं। इसके अलावा वे वेतन बढ़ाने की भी मांग कर रहे हैं। उन्होंने बेमियादी हड़ताल की चेतावनी दी है।

बैतालपुर डिपो से भारत  पेट्रोलियम, इंडियन ऑयल और हिन्दुस्तान ऑयल कार्पोरेशन गोरखपुर बस्ती मंडल के साथ ही आजमगढ़ व नेपाल में भी तेल की आपूर्ति करता है। तीनों कंपनियों को मिलाकर करीब पांच सौ टैंकर यहां से चलते हैं। इनमें करीब सौ के आसपास टैंकर भारत पेट्रोलियम के हैं। भारत पेट्रोलियम कार्पोरेशन की ओर से मंगलवार को टैंकर में तेल भरने के दौरान रिमोट कंट्रोल लॉक का प्रयोग किया गया था। इसकी सूचना मिलते ही भारत पेट्रोलियम के टैंकर चालक हड़ताल पर चले गए थे। 

टैंकरों में तेल भरने से मना करते हुए चालकों ने दूसरे दिन भी हड़ताल जारी रखा है। टैंकर चालक अभिमन्यु यादव, जेपी तिवारी, अनिल सिंह, त्रिजोगी यादव, सुनील, इस्माइल, अश्वनी, रामाज्ञा का कहना है कि भारत आयल डिपो टैंकर चालकों के साथ सौतेला व्यवहार कर रहा है। कम्पनी ने पहले तो प्राइवेट हाथों में इसकी बागडोर दे दी। अब चालकों व अन्य कर्मचारियों को लाचार बना रही है। 

अब टैंकरों में तेल भरने के बाद रिमोट कंट्रोल लॉक लगाया जा रहा है। लॉक में किसी तरह के टेपरिंग पर टैंकर चालकों को एक लाख जुर्माना भरना होगा और सजा भी काटनी पड़ सकती है। यह टैंकर चालकों के साथ अन्याय है। रिमोट कंट्रोल लाक हटाने व टैंकर चालकों के वेतन बढ़ाने तक हड़ताल जारी रखा जाएगा।

इन 10 जिलों में गहरा सकता है तेल संकट

बैतालपुर आयल डिपो के बीपीसीएल से यूपी के *दस जिलों देवरिया, बलिया, मऊ, आजमगढ़, कुशीनगर, महराजगंज, गोरखपुर, सिद्धार्थ नगर, बस्ती, संत कबीर नगर में डीजल-पेट्रोल की सप्लाई की जाती है। हड़ताल के चलते टैंकरों के पहिया थमने से इन जिलों में तेल का संकट गहरा सकता है।

एक ईएम लाक की कीमत है 38 हजार, टूटा तो टैंकर मालिक भी भरेगा

टैंकर से तेल चोरी व सुरक्षा को लेकर कंपनी ने ईएमलाक सिस्टम लागू किया है। सीलिंग, सेक्यूरिटी लाकिंग व इलेक्ट्रॉनिक लाकिंग सिस्टम का टैंकर चालक विरोध कर रहे है। लाक से किसी प्रकार की छेड़छाड़ की दशा में चालकों को एक लाक जुर्माना भरना पड़ेगा। वहीं लाक खराब होने की दशा में टैंकर मालिक को एक कंट्रोल लाक की कीमत 38 हजार भरना होगा। टैंकर चालकों को इस बात का डर सता रहा कि यदि किसी वजह से ईएमलाक खराब होता है तो किस तरह से दंड भरेंगे।