गांवो को कोरोना से बचाना एक चुनौतीपूर्ण कार्य : संजय गुप्ता
May 12, 2020 • गुरुकुल वाणी


कोरोना कर्फ्यू के दौरान बाहर से आने वाले मजदूरों से ग्रामीण भयभीत

सलेमपुर,देवरिया। कोरोना संकट से गुजर रहे संसार के लगभग सारे देश,ऐसे में आम जनमानस में कोरोना संक्रमण का भय इस तरह वयाप्त गया है कि उससे उबरने में सालों लग जायेंगे उक्त बातें जिला कांग्रेस कमेटी के सचिव संजय गुप्ता ने कहा।आगे उन्होंने कहा कि देश के अन्य हिस्सों से अपने घर - गांव आने वाले मजदूरों व कामगारों से ग्रामीण भय के साये में जी रहे हैं।
बतादें कि पूरे देश में विभिन्न राज्यों के अलग-अलग हिस्सों में बयालीस करोड़ मजदूर रोजगार में लगे हैं,वहीं अपने देश से बाहर जाकर दूसरे देशों में काम करने वाले कामगारों की संख्या लगभग एक करोड़ तिरसठ लाख है।जो आज कोरोना संक्रमण व सम्पूर्ण लॉक डाउन के चलते अपने अपने गांव घर आने को आतुर है।इनकी आतुरता देखते हुए सरकार ने इनको अलग अलग राज्यों से ट्रेन,बस व हवाई मार्ग से उनको घर पहुंचाने का काम कर रही है।जिससे गांवो में इनके आने से कोरोना संक्रमण फैलने का डर बना हुआ है।जबकि सरकार के निर्देशों के अनुसार बाहर से आने वाले लोगों को गांव के बाहर कोरोनटायीन करने का निर्देश जारी किया गया था,लेकिन अब होम कोरेनटाइन करने को कहा जा रहा है जिससे ग्रामीणों में भय का वातावरण बना हुआ है।

देवरिया में अब तक जो तीन मरीज कोरोना के पाए गए हैं वे सभी देश के दूसरे राज्य से आये हुए लोग हैं।ऐसे हालात में कोरोना से बचने के लिए लोगों को जागरूक होना होगा साथ ही गांव के प्रधान,सामाजिक कार्यकर्ता व प्रबुद्धजनों का यह दायित्व बनता है कि वे लोग लोगो मे इसके बचाव के तरीके व सावधानी बरतने को लेकर जागरूकता पैदा करें।