गर्भवती महिलाएं तनाव मुक्त रहने का प्रयास करे : डाo नुपुर श्रीवास्तव 
May 24, 2020 • गुरुकुल वाणी

देवरिया सदर  जिला स्वास्थ  केन्द्र पर  महिला  चिकित्सक  गोल्ड मेडिलिस्ट  डाक्टर  नुपुर  श्रीवास्तव ने  कारोना से बचने और गर्भ  मे  पल  रहे बच्चे को  सुरक्षित  रखने  के  लिये तनावमुक्‍त रहने का  सुझाव दिया और महिलाओ को  कारोना  से  बचाव और  मन की भ्रान्‍ती  को  समाप्त  करने  की  प्रेरणा  दी है  l  जीससे  गर्भ  पर  कोई  गलत  असर  न  हो  सके  और  बच्चा स्वस्थ  पैदा हो  सके l

कोरोना वायरस के प्रकोप ने सभी को चिंता में डाल दिया है। इसका सबसे ज्यादा असर गर्भवती महिलाओं में देखा जा रहा है। वह गर्भ में पल रहे बच्चे में संक्रमण की आशंका से तनाव में हैं। चिकित्सकों ने इन्हें तनाव से बचने की सलाह देते हुए कहा है कि यह वक्त सकारात्मक सोच का है, डर को दिमाग में लाने का नहीं।

कोरोना का संक्रमण गर्भवती महिलाओं के जरिए बच्चे में नहीं फैल सकता है। हालांकि, गर्भावस्था के दौरान शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं, जिससे शरीर का प्रतिरोधी तंत्र संवेदनशील हो जाता है। इस कारण ऐसे समय में गर्भवती को विशेष सर्तकता बरतने की जरूरत है, ताकि वह खुद इस संक्रमण से सुरक्षित रहें।
तनाव से बच्चे की सेहत को नुकसान

डॉक्टर ने बताया कि ऐसे समय में तनावग्रस्त होने से बच्चे की सेहत को नुकसान हो सकता है। जितना गर्भवती महिलाएं हर मिनट, हर घंटे व हर दिन को खुलकर जिएंगी, उतना ही बेहतर महसूस करेंगी। अपने आप को सकारात्मक बनाए रखने के लिए जीवनसाथी से ज्यादा से ज्यादा मदद लें। मन के अंदर डर को दबाने के बजाय परिवार के सदस्यों से साझा करें।