हाट स्पाट एरिया में अभी काम न कराए जाएं : केशव प्रसाद मौर्य
April 13, 2020 • गुरुकुल वाणी
 
15 अप्रैल से निर्माण कार्य शुरू होंगे।

कोरोना के दृष्टिगत सुरक्षा के सभी मानको को पूरा किया जाए।

कोविड-19 में जिनकी ड्यूटी लगी है, उन्हें डिस्टर्व न किया जाए।

सारे कार्य सामाजिक दूरी (सोशल डिस्टेसिंग) बनाकर ही कराना है।

यथासंभव हर सप्ताह लेबरों का सामान्य मेडिकल परीक्षण करा लिया जाए।

मजदूरों को मास्क, सैनिटाइजर आदि की व्यवस्था कराई जाए।

कोरोना से बचने के उपायों के बारे में माड्यूल बनाकर मजदूरों को प्रशिक्षण दिया जाए।

निर्माण कार्य कराए जाने वाले विभाग, उच्च स्तर के एक अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाएं। 

कार्यों की प्रतिदिन रिपोर्ट दी जाए।
 
लखनऊ 13 अप्रैल 2020। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य उन निर्माण कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर 15 अप्रैल से प्रारंभ कराने के निर्देश दिए हैं, जिन्हें बरसात से पहले कराया जाना नितांत आवश्यक है। श्री मौर्य आज निर्माण कार्यों के संबंध में गठित समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक विश्वेश्वरैया हाल (लोक निर्माण विभाग मुख्यालय) लखनऊ में संपन्न हुई।

श्री मौर्य ने निर्देश दिए कि निर्माण कार्यो में सोशल डिस्टेंसिग (सामाजिक दूरी) का हर हाल में पालन कराया जाए तथा यथासंभव समय-समय पर लेबरों का सामान्य स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाए। उन्हें मास्क आदि की भी व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाय तथा मशीनों/उपकरणों का भी सैनिटाइजेशन कराया जाय।

उन्होंने कहा कि निर्माण स्थलों पर कोई श्रमिक पान मसाला आदि का प्रयोग न करें, इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए।उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य, साइटों पर सामाजिक दूरी बनाकर 5 या 10 लेबर में विभक्त कर कराए जाएं। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि मजदूरों को साइट पर ही रहने की व्यवस्था कराई जाए तथा उन्हें राशन की व्यवस्था कराई जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि कोरोना से बचने के लिए कार्य स्थल पर कोरोना से बचने के उपायों को दर्शाते हुए माड्यूल बनाकर लेबरों को प्रशिक्षण दिलाया जाए।

उन्होंने कहा कि जो भी निर्माण कार्य कराए जाएं, उनकी डेली रिर्पोटिंग की जाय तथा वहां पर की गई व्यवस्थाओं का लेखा-जोखा भी प्रतिदिन प्रस्तुत किया जाए। उन्होंने कहा कि कार्यदाई संस्थाओं के अधिकारी/कर्मचारी जो कोरोना की ड्यूटी में लगाए गए हैं, उन्हें डिस्टर्ब न किया जाए, बहुत जरूरी हो तो टेक्निकल स्टाफ को उनका विकल्प देते हुए उनकी सेवाएं ली जा सकती है, लेकिन उससे जिला प्रशासन को कोई असुविधा ना होने पाए। गाड़ियों की मरम्मत लिए सीमित वर्कशाप खोलने के लिए जिला अधिकारियों को एडवाइजरी जारी करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि कार्यस्थल पर कोरोना से बचाव हेतु यथा संभव एक किट की व्यवस्था कराई जाए, जिसमें साबुन, सेनेटाइजर आदि रखे जांए। 

उपकरणों को सोडियम हाइपोक्लोराइट से सेनीटाइज कराया जाय। यथासंभव श्रमिको की स्कैनिंग भी कराई जाय। साइट पर काम करने वाले लोगों का पंजीकरण जरूर होना चाहिए तथा उनका इंश्योरेंस कराने की व्यवस्था श्रम विभाग के परामर्श की जाय। 

उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि उन कार्यो पर विशेष रुप से फोकस किया जाए, जिन्हें बरसात के पहले कराया जाना नितांत आवश्यक है। नगरीय क्षेत्रों में इस बीच नालों की सफाई करा ली जाए ताकि बरसात में जल प्लावन की स्थिति न पैदा हो।

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे ,गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे के स्ट्रक्चर कार्यों को कराए जाने हेतु अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने वस्तु स्थिति से अवगत कराते हुए कार्य शुरू कराए जाने की अपेक्षा पर सहमत प्रदान की गई। उपशा के रिपेयर कार्यो को भी सामाजिक दूरी बनाते हुए कराए जाने की सहमति दी गई। कानपुर नगर में मेट्रो के कार्य व आवास विभाग के बड़े प्रोजेक्टों को प्रोजेक्ट स्थल पर वर्कर्स को सभी फैसिलिटी देते हुए कार्य कराए जाने की सहमति प्रदान की गई। जल निगम द्वारा निर्माणाधीन फतेहपुर व एटा के मेडिकल कॉलेजों के कार्य प्रारंभ कराने के निर्देश दिए गए। सिंचाई विभाग के आनगोइंग वर्कों, नहरों की सफाई तटबंधो की मरम्मत, संभावित बाढ़ के दृष्टिगत गेटो की मरम्मत, ट्यूबवेलो की मरम्मत, चेक डैम, तालाबों की खुदाई, पेयजल की बड़ी स्कीमें व अटल भूजल योजना के कार्यों को बरसात के पहले पूरा कराने की सहमति प्रदान की गई।

उपमुख्यमंत्री ने लोक निर्माण विभाग की सड़कों  को गड्ढा मुक्त करने, सड़कों के निर्माण, सेतु निगम व राजकीय निर्माण निगम के प्रोजेक्टो पर भी कार्य शुरू कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हाटस्पाट एरिया मे कार्यों को अभी न शुरू कराया जाए।

उन्होंने कहा कि 14 अप्रैल को बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की जयंती है। डा० अंबेडकर जयंती के अवसर पर कोई समारोह आयोजित न किया जाए तथा अपने कार्यस्थल पर/कार्यालय में उनके चित्र पर माल्यार्पण किया जाए।

इस अवसर पर जलशक्ति मंत्री श्री महेंद्र सिंह न्याय एवं विधाई कार्य तथा ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के मंत्री श्री बृजेश पाठक, नगर विकास मंत्री श्री आशुतोष टंडन ने भी अपने महत्वपूर्ण सुझाव दिये ।

इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव नगर विकास, श्री दीपककुमार, प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग श्री नितिन रमेश गोकर्ण, सचिव लोक निर्माण विभाग श्री समीर वर्मा, सचिव लोक निर्माण विभाग श्री रंजन कुमार, प्रमुख सचिव ग्रामीण अभियंत्रण विभाग श्रीमती कल्पना अवस्थी, प्रबन्ध निदेशक जल निगम श्री विकास विकास गोठलवाल सहित विभिन्न विभागों के उच्च स्तर के अधिकारी उपस्थित थे।