कूड़े के ढेर से निकल रहे दुर्गंध से लोगों का पूजा अर्चना करना हुआ दुश्वार
July 22, 2020 • गुरुकुल वाणी

_भगवान को भी नही बख़्श रहा नगर पंचायत_

_कूड़े के ढेर से निकल रहे दुर्गंध से लोगों का पूजा अर्चना करना हुआ दुश्वार_

*सांकृत्यायन रवीश पाण्डेय द्वारा*
सलेमपुर,देवरिया। आदर्श नगर पंचायत सलेमपुर में ओभर ब्रिज के नीचे स्थित मनोकामना पूर्ण पुराना हनुमान मंदिर के पास नगर प्रशासन की विवेकहीनता के कारण मंदिर के निकट कूड़े का ढेर एकत्रित किया जाता है जो कई कई दिनों तक उठाया नही जाता।इस बरसात के मौसम में कूड़े से सड़ांध व निकलने वाली दुर्गध के कारण मंदिर में दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालु व भक्तों को भारी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है।मंदिर के बने चबूतरे पर आस-पास गांवो के लोग मांगलिक कार्यक्रमों व भेट-मुलाकातों तथा गर्मी से बचाव हेतु एक ठौर के रूप में इश्तेमाल करते हैं।लेकिन आजकल कूड़े के दुर्गंध से आस-पास के लोगों का जीना दुश्वार हो गया है।इसकी शिकायत नगर पंचायत अध्यक्ष तथा ई ओ से सामाजिक कार्यकर्ता इन्द्रहास पाण्डेय द्वारा दूरभाष पर की जा चुकी है लेकिन इस बाबत अभी तक नगर प्रशासन द्वारा अभी तक कोई ठोस कदम नही उठाया गया जिससे लोगो को समस्या से निजात मिल सके।

इस तरह की समस्याएं केवल यहीं नही बल्कि लगभग सभी वार्डो में मौजूद है जिसकी सुध लेने वाला कोई नही है।एक तरफ सेंटजेवीएर्स स्कूल को जाने वाले रास्ते को पार करने के लिए स्थानीय लोगों ने पुरस्कार की घोसड़ा कर रखी है,और कहा है कि कोई भी जनप्रतिनिधि इस रास्ते से पार होकर आगे के अम्बेडकर ग्राम चकरवां

आश्रयदास,गुमटही,भीमपुर,सिसवा दिक्षित आदि गांवो को चला जायेगा तो उसे नगद के रूप में ग्यारह हजार रुपये प्रदान किये जायेंगे।जिससे चुनाव लड़कर पुनः वह व्यक्ति चयनित हो सके।

कुछ इसी तरह का आलम चेरो रोड पर भी बना हुवा है।जहाँ सड़क पर घुटने तक लबालब पानी फैला हुआ है।स्थानीय जनप्रतिनिधियों के द्वारा लगातार नगर पंचायत से इस समस्या का निदान करने हेतु मांग करते रहे लेकिन कोई कार्यवाही न होने के कारण एक जनप्रतिनिधि के द्वारा नगर पंचायत अध्यक्ष, ई ओ तथा अन्य कर्मचारियों को दूरभाष पर गाली देना नगर के अंदर चर्चा का विषय बना हुवा है।

सरकार से जिले की मांग करने वाला व्यक्ति नगर पंचायत की व्यवस्था को संचालित करने में फिसड्डी साबित हो रहा है।ऐसे लोग जनता को केवल भ्रमित करने का काम करते हैं।

 

 

*मंदिरों के पास से भी नही उठ रहे कूड़े के ढेर*
_भगवान को भी नही बख़्श रहा नगर पंचायत_
_कूड़े के ढेर से निकल रहे दुर्गंध से लोगों का पूजा अर्चना करना हुआ दुश्वार_
*सांकृत्यायन रवीश पाण्डेय*
सलेमपुर,देवरिया।
आदर्श नगर पंचायत सलेमपुर में ओभर ब्रिज के नीचे स्थित मनोकामना पूर्ण पुराना हनुमान मंदिर के पास नगर प्रशासन की विवेकहीनता के कारण मंदिर के निकट कूड़े का ढेर एकत्रित किया जाता है जो कई कई दिनों तक उठाया नही जाता।इस बरसात के मौसम में कूड़े से सड़ांध व निकलने वाली दुर्गध के कारण मंदिर में दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालु व भक्तों को भारी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है।मंदिर के बने चबूतरे पर आस-पास गांवो के लोग मांगलिक कार्यक्रमों व भेट-मुलाकातों तथा गर्मी से बचाव हेतु एक ठौर के रूप में इश्तेमाल करते हैं।लेकिन आजकल कूड़े के दुर्गंध से आस-पास के लोगों का जीना दुश्वार हो गया है।इसकी शिकायत नगर पंचायत अध्यक्ष तथा ई ओ से सामाजिक कार्यकर्ता इन्द्रहास पाण्डेय द्वारा दूरभाष पर की जा चुकी है लेकिन इस बाबत अभी तक नगर प्रशासन द्वारा अभी तक कोई ठोस कदम नही उठाया गया जिससे लोगो को समस्या से निजात मिल सके।
इस तरह की समस्याएं केवल यहीं नही बल्कि लगभग सभी वार्डो में मौजूद है जिसकी सुध लेने वाला कोई नही है।एक तरफ सेंटजेवीएर्स स्कूल को जाने वाले रास्ते को पार करने के लिए स्थानीय लोगों ने पुरस्कार की घोसड़ा कर रखी है,और कहा है कि कोई भी जनप्रतिनिधि इस रास्ते से पार होकर आगे के अम्बेडकर ग्राम चकरवां आश्रयदास,गुमटही,भीमपुर,सिसवा दिक्षित आदि गांवो को चला जायेगा तो उसे नगद के रूप में ग्यारह हजार रुपये प्रदान किये जायेंगे।जिससे चुनाव लड़कर पुनः वह व्यक्ति चयनित हो सके।
कुछ इसी तरह का आलम चेरो रोड पर भी बना हुवा है।जहाँ सड़क पर घुटने तक लबालब पानी फैला हुआ है।स्थानीय जनप्रतिनिधियों के द्वारा लगातार नगर पंचायत से इस समस्या का निदान करने हेतु मांग करते रहे लेकिन कोई कार्यवाही न होने के कारण एक जनप्रतिनिधि के द्वारा नगर पंचायत अध्यक्ष, ई ओ तथा अन्य कर्मचारियों को दूरभाष पर गाली देना नगर के अंदर चर्चा का विषय बना हुवा है।
सरकार से जिले की मांग करने वाला व्यक्ति नगर पंचायत की व्यवस्था को संचालित करने में फिसड्डी साबित हो रहा है।ऐसे लोग जनता को केवल भ्रमित करने का काम करते हैं।