कोरोना वायरस : विदेश से आने वालों पर स्वास्थ्य विभाग बलिया की पैनी नजर : सीएमओ बलिया
March 13, 2020 • गुरुकुल वाणी

बलिया, 13 मार्च 2020 ।। विदेश से आने वाले लोगों में कोरोना वायरस की आशंका के चलते जिले में स्वास्थ्य विभाग सतर्क है। जिले में अब तक 43 लोगों के विदेश से आने की खबर है, जिनमें से 13 यात्रियों की सूची पहले प्राप्त हुई थी उनमें से 3 यात्री ही सिर्फ बलिया में निवास कर रहे हैं। इन तीनों यात्रियों की मानिटरिंग का 28 दिन का पीरियड पूरा हो चुका है और उनको पूरी तरह स्वस्थ घोषित कर दिया गया है। शेष 30 लोगों की सूची 12 मार्च को प्राप्त हुई है। इन सभी लोगों को ट्रैक किया जा रहा है। ट्रैक होने के बाद इनकी निगरानी की जाएगी।

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ प्रीतम कुमार मिश्र ने बताया कि कोरोना के बचाव को लेकर जागरूकता पैदा किये जाने और सभी प्राइवेट चिकित्सालयों में आइसोलेशन वार्ड बनाये जाने के निर्देश दिये गये हैं।

मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए जिला चिकित्सालय में 10 बेड और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर 2 बेड आरक्षित कर विशेष वार्ड बना दिये गये है। विदेश से लौटे जिले के नागरिकों की लागातार निगरानी की जा रही है। कुछ दिन पहले असंवार क्षेत्र के चिलकहर ब्लॉक के एक व्यक्ति में लक्षण देखकर उसका सैम्पल केजीएमयू लखनऊ भेजा गया था उसका परिणाम नकारात्मक आया है, फिलहाल जिले में एक भी कोरोना के रोगी नही हैं। जिले के जिन चिकित्सालय में वेंटीलेटर की सुविधा है उनको चिन्हित कर उनकी एक सूची बनाई गयी है, जिससे आकस्मिक स्थिति से निपटा जा सके।

जनपद स्तर पर 2 एम्बुलेंस आरक्षित कर प्राइवेट चिकित्सालयों से बात करके उनके मेडिकल और पैरामेडिकल स्टाफ की सूची बनाई गयी है। स्थानीय स्तर पर लोगों में हाथ धोने के सन्देश को फैलाया जा रहा है, जहां मिड डे मील बांटा जा रहा है वहाँ भी बच्चों को हाथ धोने के बारे में बताया जा रहा है।

जिला महामारी रोग विशेषज्ञ डा० जियाउल हुदा ने बताया कि जिलें में अब तक 43 लोगों के विदेश से आने की खबर है। पीड़ित व्यक्ति को एक खुले हवादार कमरे में रखें और 28 दिन तक निगरानी करें। कोरोना वायरस एक फ्लू जैसी बीमारी से फैलाता है, जिसके प्रमुख लक्षण बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ हैं।

क्या करें

• हाथों को बार बार साबुन एवं साफ पानी से अच्छी तरह धोएं ।

• खांसते और छिकते समय अपना नाक और मुंह को टिशू या रुमाल से ढके, इस्तेमाल किए टिशु को कूड़ेदान में ही फेंके।

• अगर खांसी या बुखार के लक्षण हो या सांस लेने में तकलीफ हो तो तुरंत निकटतम स्वास्थ्य केंद्र जाएं।

• खांसी बुखार या सांस लेने में तकलीफ होने पर और लक्षण समाप्त होने तक घर पर ही आराम करें। अन्य लोगों से कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाए रखें ।

क्या न करें

• सार्वजनिक एवं खुले स्थानों पर न थूकें ।

• बेवजह अपनी आंखें नाक या मुंह न छुएं। छूने के बाद हमेशा हाथों को अच्छी तरह साबुन और पानी से धोएं।

• खांसी या बुखार के लक्षण होने पर, या सांस लेने में तकलीफ होने पर लक्षण समाप्त होने तक सार्वजनिक स्थानों पर न जाएं और लोगों से निकट संपर्क न करें।

हम सब ध्यान दें

• भारत में कोरोना वायरस के बहुत कम मामले सामने आए हैं कोरोना वायरस से प्रभावित अधिकांश रोगी पूर्णतः सही हो जाते हैं अतः घबराए बिल्कुल नहीं।

• जिम्मेदार बने सोशल मीडिया में अवैज्ञानिक अप्रामाणिक संदेशों को न तो फैलाएं और अन्य लोगों को भी मना करें।

• केवल प्रमाणित स्रोतों के संदेशों पर भरोसा करें जैसे स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग और डब्ल्यूएचओ।