क्षेत्रिय जनता के मांग पर सरकार मे मंत्री बनाये जा सकते है काली प्रसाद
August 21, 2020 • गुरुकुल वाणी

सलेमपुर बिधानसभा उत्तर प्रदेश भाजपा के लिये वरदान साबित रहा क्योकी वर्ष 1980 मे भाजपा ने इस बिधानसभा से पहली जीत दर्ज की थी उस वक्त सलेमपुर बिधायक श्री दूर्गा प्रसाद मिश्र जी थे श्री मिश्र प्रदेश स्तर के बड़े शुमार नेता के रुप मे भाजपा के लिये योगदान दिये इस क्षेत्र के बुजूर्ग लोगो से जब गुरुकुल वाणी के शिवाकांत तिवारी ने बात किया तो पता चला कि भाजपा सरकार ने श्री दूर्गा प्रसाद मिश्र को मंत्री नही बनाया इससे नाराज होकर जनता ने अन्य दलो के नेताओ को चुना।

देश के प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को ने 37 वर्ष के बाद भाजपा के संगठन के कार्यकर्ता काली प्रसाद को टिकट दिया और जनता ने वोट रूपी आशिर्वाद देकर सभी दलो के पूर्व के रिकार्ड को तोड़कर भाजपा का बिधायक चुना भाजपा कार्यकर्ता और जनता को उम्मीद थी की सलेंमपुर से मंत्री बनना काली प्रसाद का तय है लेकिन उम्मीद टूट गयी l लेकिन भाजपा 2020 मे मंत्री मंडल बिस्तार करती है तो सलेमपुर के सम्मान को बचाने और क्षेत्र के विकास के लिये काली प्रसाद को मंत्री मंडल मे शामिल कर सकती है।

काली प्रसाद आरक्षित सीट सलेमपुर के बिधायक है। भाजपा सरकार मे कोई गलत आरोप नही लगा है और शोंम्य विचार उनका स्वभाव है गांव से लेकर बिधानसभा तक का सफर जनता के आशिर्वाद को मानते हैं इसलिये जनता और कार्यकर्ताओ के लिये प्रिय है।