लखनऊ स्थित ऐशबाग कोचिंग डिपों में 12 साधारण कोचों को आइसोलेशन वार्ड में परिवर्तित
April 5, 2020 • गुरुकुल वाणी
 
लखनऊ मण्डल अपने रेल कर्मियों एवं सम्मनित ग्राहकों तथा आमजन की सेवा हेतु सतत् प्रयासरत : डा0 मोनिका अग्निहोत्री

लखनऊ 05 अप्रैल 2020। कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल की मण्डल रेल प्रबन्धक डा0 मोनिका अग्निहोत्री के कुशल नेतृत्व में निरंतर अग्रणी रहकर अपनी सक्रिय सहभागिता एवं सर्वोच्च सेवाओं के द्वारा अपने रेल कर्मियों एवं सम्मनित ग्राहकों तथा आमजन की सेवा हेतु सतत् प्रयासरत है।  

इसी क्रम में लखनऊ मण्डल के सवारी एवं माल डिब्बा विभाग (समाडि) के गोरखपुर स्थित कोचिंग डिपों में 38 साधारण कोचों एवं लखनऊ स्थित ऐशबाग कोचिंग डिपों में 12 साधारण कोचों को आइसोलेशन वार्ड में परिवर्तित किया जा रहा है।

पारदर्शी प्लास्टिक परदों से युक्त, प्रत्येक कोच में बने आइसोलेशन वार्ड में पहला केबिन चिकित्सकों एवं पैरा मेडिकल स्टाफ के लिए जिसमें मरीजों के लिए अक्सीजन की सुविधा, दवाऐं, उपकरण आदि उपलब्ध रहेगें तथा बाकी आठ केबिन रोगियों के लिए तैयार किये गये है। आइसोलेशन वार्ड में भारतीय शैली के शौचालय को बाथरूम में परिवर्तित किया जा रहा है। इसमें लाॅग हैण्डिल टैप और हैण्ड शावर के साथ- साथ एक बाल्टी, मग भी उपलब्ध कराये गये है।

मच्छरों के प्रवेश से बचने के लिए मच्छरदानी उपलब्ध कराई गयी है तथा उचित वेंटिलेशन भी दिया गया है।

प्रत्येक केबिन में सूखा कूड़ा, गीला कूड़ा एवं खतरनाक अपशिष्ट पदार्थ के निस्तारण हेतु फुट पैडल आपरेटेड ढक्कनदार तीन अलग-अलग डस्टबिन (लाल, नीला, पीला) प्रदान किये गये है। चिकित्सकों एवं पैरा मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा के लिए Personal Protective Equipment  (पीपीई) किट उपलब्ध कराई गयी है। आइसोलेशन वार्ड में तब्दील होने के साथ ही तैनात चिकित्सक व अन्य पैरा मेडिकल स्टाफ सीधे रेलवे चिकित्सालय एवं स्थानीय चिकित्सालयों में मौजूद विशेषज्ञों के सम्पर्क में रहेगे। आइसोलेशन कोचों के तैयार हो जाने के उपरांत उनका पूर्ण रूप से सेनिटाइजेशन भी किया जायेगा।
उक्त जानकारी महेेश गुप्ता जनसंपर्क अधिकारी पूर्वोत्तर रेलवे, लखनऊ ने दी।