मुसलमानों को डराने के लिए आजम खां को भेजा है जेल : रामगोविंद चौधरी
March 16, 2020 • गुरुकुल वाणी

लखनऊ। नेता प्रतिपक्ष विधानसभा में रामगोविंद चौधरी ने कहा कि समाजवादी नेता आजम खान उनकी पत्नी व उनके बेटे को जेल में बंद कर उत्तर प्रदेश सरकार मुसलमानों को डरा रही हैं कि भाजपा के विरोध में वोट देंगे तो उनकी गति आजम खान और उनके परिवार की जैसी होंगी।

 नेता प्रतिपक्ष मंगलवार को आजम खान से मिलने सीतापुर जिला कारागार जा रहे हैं उनके साथ पूर्व मंत्री विधायक शैलेंद्र यादव ललई जी, पूर्व मंत्री विधायक नरेंद्र सिंह वर्मा, पूर्व मंत्री अरविंद सिंह गोप भी जा रहे हैं। इस सीतापुर यात्रा को लेकर पत्रकारों द्वारा किए गए एक प्रश्न के उत्तर में नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि आजम खान वर्तमान में सांसद हैं। 9 बार विधायक रहे, मंत्री रहे, उनकी पत्नी सांसद रही है जो वर्तमान में विधायक है, पुत्र विधायक थे। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर का जौहर विश्वविद्यालय बनवाया जिसे लेकर सरकार को उनका सम्मान करना चाहिए। इसके बदले में उन्हें परिवार सहित जेल में डालना शिक्षा का अपमान है लोकतंत्र का अपमान है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार के इस उत्पीड़न से ना तो आजम खान डरने वाले हैं और न मुसलमान। सूबे का हर आदमी जो लोकतंत्र में विश्वास रखता है शिक्षा के उत्थान में विश्वास रखता है जो किसान, मजलूम, दलित, अल्पसंख्यकों के हित की बात सोचता है वह इस प्रदेश की अमानवीय सरकार के रवैए के खिलाफ है। इसलिए वर्ष 2022 में इस सरकार की वापसी नहीं होनी है।

श्री रामगोविंद चौधरी ने कहा कि ईवीएम लहर और सरकार की हर सम्भव कोशिश के बाद भी आजम खान के क्षेत्र में भाजपा हारी। उप चुनाव में भी पराजित हुई, इसीलिए बदले की भावना से उनको परिवार को जेल में डाला गया। इस सच को हर आदमी समझ रहा है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे मुसलमानों पर गोली बरसा कर 25 लोगों को जान से मारना, सैकड़ों को जेल में डालने की करवाई, कानून को अपमानित कर पोस्टरबाजी भी सरकार डराने के उद्देश्य से कर रही है। समाजवादी पार्टी और समाजवादी विचारधारा के लोग सरकार के इस दमनात्मक रवैये को सफल नहीं होने देंगे।