पहली ही बरसात ने खोली विकास कार्यों की पोल
June 27, 2020 • गुरुकुल वाणी

नगर की सड़कें खीचड़ में सनी

नालियां ओभर फ्लो होकर की जलजमाव

सलेमपुर,देवरिया। सलेमपुर नगर पंचायत के विकास कार्यों की पोल बरसात की पहली बारिश ने खोल दी।वृहस्पतिवार को हुई झमाझम बारिश से जहाँ एक तरफ किसान के चेहरे पर खुशी की लहर देखने को मिली वहीं नगर वासियों के लिए मुसीबत बन गयी।
नगर की विभिन्न सड़कें पानी में डूब गयी तो कुछ कीचड़ में लबालब सन गयी।इन सड़कों से राहगीरों का चलना दूभर हो गया।सड़क किनारे जल निकासी के लिए बनी नालियां काफी दिनों से जाम पड़ी थी जिससे वे ओभर फ्लो हो गयी और गंदा पानी सड़क पर बहने लगा।कुछ जगहों पर तो यह गन्दा पानी लोगों के घरों में भी पहुंचने लगा।
सोहनाग मोड़ से जी एम एकेडमी,सेंटजेवीयर्स स्कूल होते हुए अम्बेडकर ग्राम चकरवा आश्रयदास होते हुए गुमटही व दूसरे अनेक गांवो को जोड़ने वाली सड़क पहले से ही अपनी दुर्दशा पर आंशू बहा रही थी कि इस मौसम की पहली बरसात ने कीचड़ व पानी से सरोबार कर दिया जिसपर वाहन लेकर चलना तो दूर पैदल चलना दिवा स्वप्न बन गया है।बतादें कि इस सड़क के मरम्मत के लिए अनेक बार लोगों ने आवाज उठायी लेकिन समय रहते नगर पंचायत के कानों पर जूं तक नही रेंगा।जिसका नतीजा यह है कि इस पर लोगों का आवागमन पहली बरसात ने बन्द कर दिया है।
यही हाल नगर के दूसरे सड़कों का भी रहा खास तौर पर अनेक वार्डों में आने जाने के लिए बनी सड़कें बरसात की पहली बारिश के थपेड़े भी नही झेल पायी और नगरवासियों के लिए मुसीबत पैदा कर दी।
गांधी चौक से स्टेशन होते हुए अस्पताल गेट तक जाने वाली सड़क की मरम्मत अभी कुछ माह पहले ही नगर पंचायत द्वारा कराया गया था।सड़क में बने जगह जगह गड्ढे ईंट तोड़कर भरे गए थे।और लाखों रुपये का बजट उस पर नगर पंचायत द्वारा बनाकर भुगतान करा लिया गया।लेकिन सड़क के बीच बने गड्ढे न तो भर पाए और न ही सड़क की अच्छी तरह से मरम्मत हो पायी।और पहली बरसात के थपेड़े भी नही झेल पायी।सड़क में बने गड्ढे आये दिन दुर्घटना को दावत दी रहे हैं।लेकिन नगर प्रशासन की कुम्भकर्णी निद्रा भंग होने का नाम नही ले रही।
मौसम की पहली बारिश ने नगर को कीचड़ व जल भराव से लबालब कर दिया जो विकास कार्यो की पोल खोलने के लिए बहुत है।

*संकृत्यायन रवीश पाण्डेय*