पूर्व मंत्री घूरा राम के आकश्मिक निधन पर समाजवादी पार्टी ने किया शोक ब्यक्त
July 16, 2020 • गुरुकुल वाणी

बलिया। समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री श्री घूरा राम के आकश्मिक  निधन पर समाजवादी पार्टी ने गहरा शोक ब्यक्त किया है। पार्टी के प्रवक्ता सुशील कुमार पाण्डेय"कान्हजी" प्रेस को जारी शोक संदेश में बताया कि पार्टी के वरिष्ठ नेता और बिधान सभा मे बिपक्ष के नेता रामगोविन्द चौधरी ने श्री घूरा राम के निधन की खबर सुनते ही दूरभाष पर अपनी शोक सम्बेदना ब्यक्त किया और कहा कि श्री घूरा राम जी मेरे बलिया आवास के पड़ोसी और मेरे छोटे भाई के समान थे राजनीति हो या ब्यक्तिगत बाते हो जब भी कोई समस्या या सलाह की आवश्यकता होती थी वह सीधे मेरे पास आते थे और पारिवारिक सदस्य की तरह सलाह लेते थे स्व. घूरा राम ने आज जो भी मुकाम हासिल किया था वह अपने जुझारू तेवर के बल पर  किया था उनके निधन से हमने अपना एक मजबूत और संघर्षशील शुभचिंतक खोया है।

पार्टी के जिला अध्यक्ष राजमंगल यादव ने पूर्व मंत्री के निधन की खबर सुनते ही पार्टी के नेताओ के साथ आन लाइन शोक सभा किया जिसमें जिला अध्यक्ष ने कहा कि श्री घूरा राम के देहान्त से पार्टी को अपूर्णनीय क्षति हुई है समाजवादी पार्टी को प्रदेश स्तर पर मजबूती दिलाने का जो कार्य घूरा राम ने सुरु किया था निश्चित ही उस अभियान को धक्का लगेगा।स्व. घूरा राम जी को दलीत और बंचित समाज के महानायक के रूप में हमेशा याद किये जायेंगे। ईश्वर उनके आत्मा को शान्ति प्रदान करें। समाजवादी पार्टी इस दुःख की घड़ी में  पूरी तरह से उनके परिवार के साथ खड़ी है।

पूर्व मंत्री मो. ज़ियाउद्दीन रिजवी ने कहा कि स्व.घूरा राम समाज के कमजोर वर्ग के जुबान थे उन्हों ने सड़क से सदन तक कमजोर तबके के लोगो के लिए संघर्ष किया उनके निधन से बलिया ही नही बल्कि पूरे पूर्वांचल को क्षति हुई है।

पूर्व मंत्री नारद राय ने कहा कि श्री मुरली मनोहर टाउन कालेज में पढ़ते समय से ही हमलोगो का एकदूसरे से लगाव था छात्र जीवन से ही घूरा राम जी ने  संघर्षो का रास्ता अख्तियार किया जो जीवन पर्यंत चला उनका एक -एक संघर्ष का रास्ता समाज के वंचित वर्ग के बेहतरी के लिए था सामाजिक परिवर्तन के अग्रिम पंक्ति के योद्धा के रूप में हमेशा याद किये आएंगे  स्व. घूरा राम ।

बलिया लोक सभा क्षेत्र से पार्टी के उम्मीदवार रहे पूर्व मंत्री सनातन पाण्डेय ने कहा कि घूरा राम जी से मेरा रिश्ता अत्यंत ही मधुर था हम दोनों लोग आपस मे आमने सामने चुनाव भी लड़े फिर भी हम दोनों लोगो के आपसी रिस्ते यथावत बने रहे घूरा राम समतामूलक समाज के बहुत बड़े पैरोकार थे सामाजिक असमानता के खिलाफ संघर्ष में हरपल आगे रहते थे।  

पार्टी पूर्व अध्यक्ष पूर्व विधयक संग्राम सिंह यादव ने कहा कि घूरा राम जी मेरे मित्र थे हम दोनों लोग एक साथ एक दल काम किये है उनके देहान्त से मैंने अपना ब्यक्तिगत मित्र खोया है पूर्व विधयक जय प्रकाश अंचल ने कहा कि घूरा राम जी एक सैद्धान्तिक ब्यक्ति थे और उनका सिद्धान्त था समाज से गैर बराबरी को समाप्त करना और इसके लिए वह हमेशा संघर्षरत रहे।

पूर्व विधायक गोरख पासवान ने कहा कि हम दोनों लोग लम्बे समय तक एक ही बिचार धारा की राजनीति किये एक दल में रहे उनसे मेरा ब्यक्तिगत लगाव था उनके निधन से हमने अपना एक सहयोगी खोया है।

बलिया नगर बिधान सभा के प्रभारी लक्ष्मण गुप्ता ने कहा कि स्व.घूरा राम सामाजिक न्याय के लड़ाई लड़ने वाले योद्धा थे वह बेजुबानों और गरीबो की आवाज थे पूर्व मंत्री ब्याश गोड़ ने कहा कि यह समाचार सुनकर मैं स्तब्ध हू मैं गतात्मा की शान्ति हेतु ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ।

शोक ब्यक्त करने वाले अन्य प्रमुख लोगो मे सर्वश्री  सुभाष यादव, यशपाल सिंह, संजय उपाध्याय, चंद्रशेखर सिंह, सुधीर पासवान अद्याशंकार यादव, मृत्युंजय तिवारी बबलू , मिठाई लाल भारती, बंशीधर यादव, जमाल आलम, राजन कनौजिया, रामेश्वर पासवान, ओमप्रकाश यादव, अजय यादव, प्रभुनाथ पहलवान, हरेंद्र सिंह विजय शंकर यादव, कुबेर नाथ तिवारी, रामजी यादव, इरफान अहमद, रविन्द्र यादव, हीरालाल वर्मा, समसाद बसपरी, ममतालुम अख्तर, दयाशंकर यादव, आदि रहे।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एव पूर्व सांसद रमाशंकर विद्यार्थी ने भी पूर्वमंत्री घूरा राम के असामयिक निधन पर गहरा शोक ब्यक्त किया और उन्हें दलितों पिछडो के लिये संघर्ष करने वाला नेता बताया।