पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्यालय, गोरखपुर तथा तीनों मंडलों वाराणसी, इज्ज़तनगर एवं लखनऊ के चिकित्सालयों में आइसोलेशन वार्ड एवं क्वारंटाइन वार्ड (Quarantine Ward) बनाया गया
March 14, 2020 • गुरुकुल वाणी

वाराणसी 13 मार्च, 2020। सम्पूर्ण भारतीय रेलवे पर कोरोना वायरस को लेकर लोगों को जागरूक करने का कार्य व्यापक स्तर पर किया जा रहा  है। इसी क्रम में महाप्रबंधक, पूर्वोत्तर रेलवे श्री एल. सी. त्रिवेदी के नेतृत्व में पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्यालय, गोरखपुर तथा तीनों मंडलों वाराणसी, इज्ज़तनगर एवं लखनऊ के चिकित्सालयों में आइसोलेशन वार्ड एवं क्वारंटाइन वार्ड (Quarantine Ward) बनाया गया हैं।

इसके अतिरिक्त पूर्वोत्तर रेलवे के स्टेशनों, कार्यालयों एवं अन्य स्थानों पर सेमिनार कर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसके तहत पूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल द्वारा पूरी सतर्कता बरती जा रही है। वाराणसी मंडल के सभी प्रमुख स्टेशनों पर आटो एनाउंसमेंट सिस्टम  के माध्यम से लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने हेतु जागरूक किया जा रहा है।  इसके अतिरिक्त में वाराणसी मंडल के वाराणसी सिटी, मंडुवाडीह, प्रयागराज रामबाग, भटनी, सीवान एवं छपरा जं स्टेशनों पर कोरोना वायरस के प्रति सचेत करने एवं रोकथाम  करने हेतु हेल्पलाइन बूथ बनाये गए हैं।  इन बूथों पर आम जनता को कोरोना वायरस के लक्षणों की पहचान करने एवं कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के विषय पर मंडलीय चिकित्सकों एवं स्वास्थ्य निरीक्षकों द्वारा पूरी जानकारी दी जा रही है। नई दिल्ली की अधिकांश गाड़ियों के आवागमन के कारण संवेदनशील स्टेशनों पर विशेष सावधानी बरती जा रही है। वाराणसी मंडल के सभी स्टेशनों पर आटो एनाउंसमेंट सिस्टम और हेल्प बूथों  के माध्यम से यात्रियों एवं आम जनता को कोरोना वायरस से बचाव के लिए लगातार जागरूक कर रहे है। कोरोना संक्रमित रोगीयों को रखने के लिए पूर्वोत्तर रेलवे पर ललित नारायण मिश्र रेलवे चिकित्सालय, गोरखपुर, मंडल चिकित्सालय वाराणसी, इज्जतनगर एवं लखनऊ  के अतिरिक्त पूवोत्तर रेलवे के विभिन्न हेल्थ यूनिटों में भी 1000  बेड का क्वारंटाइन वार्ड (Quarantine Ward) तथा 50 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। इसके अतिरिक्त मंडल चिकित्सालय के पैथोलोजी में वायरस की पहचान करने हेतु विशेष उपकरणों का प्रबंध भी किया गया है साथ ही कांट्रेक्ट आधारित बड़ी पैथोलाजी में भी जाँच करायी जा रही है। संक्रामक कोरोना वायरस की भयावहता को हावी न होने देने और कोरोना के उपचार के सापेक्ष सावधानियां बरतने को ज्यादा महत्वपूर्ण है । इसके लिए मंडुवाडीह, प्रयागराज रामबाग,छपरा एवं सीवान स्टेशनों पर हेल्पलाइन बूथों के माध्यम से क्या करें क्या न करें  जैसी जरुरी सावधानियों में बताया जा रहा है। सावधानियां क्या करें- (1- अपने हाथों को बार-बार धूलें, 2- भीड़ भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें, 3-खाँसने या छींकने के दौरान रुमाल, टिशू पेपर अथवा अपनी कोहनियों से जरुर ढकें, 4- जुखाम ,खाँसी और साँस लेने में परेशानी होने पर तुरन्त डाक्टर को दिखाएँ।

सावधानियां क्या न करें – 1- यदि आपको खाँसी बुखार का अनुभव हो रहा हो तो स्वंय किसी के संपर्क में न आएं, 2- बार बार अपने चेहरे आँख,नाक या मुँह को न छुएं , 3- सार्वजनिक स्थानों पर न थूकें, 4- सार्वजनिक स्थलों पर रखी चीजे न छुएँ । जैसे संदेशों का व्यापक  प्रचार प्रसार किया जा रहा है । 

इसके अतिरक्त मंडल चिकित्सालय के सभी  यूनिटों में हेल्पलाइन बूथ एवं पृथकीकरण (आइसोलेशन) वार्ड बनाये गये हैं जिनसे आम मरीजों को संक्रमण से बचाया जा सके।