पूर्वोत्तर रेलवे के यांत्रिक कारखाना गोरखपुर व इज़्ज़तनगर के कर्मी तैयार कर रहें है पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट
April 16, 2020 • गुरुकुल वाणी

गोरखपुर, 16 अप्रैल:- कोविड-19 से रोकथाम हेतु हमारे डॉक्टर, स्वास्थ्यकर्मी एवं सफाईकर्मी, जो लोग कोरोना से संक्रमित मरीजों की जांच एवं देख रेख करते हैं उनकी भूमिका बेहद महत्वपूर्ण है, ऐसे में उनके सुरक्षा के लिए पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन पूर्ण रूप से प्रतिबद्ध है।

इसी क्रम में मार्केट में पी.पी.ई. किट की कमी को देखते हुए, पूर्वोत्तर रेलवे के यांत्रिक कारखाना, गोरखपुर में एवं इज़्ज़तनगर यांत्रिक कारखाने में  पी.पी. ई. (पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट) का उत्पादन प्रारंभ कर दिया है।

यांत्रिक कारखाना के ट्रिमिंग शॉप में बनाए जा रहे  पी. पी. ई. ललित नारायण मिश्र रेलवे चिकित्सालय, गोरखपुर तथा अन्य रेलवे चिकित्सालय में भेजें जायेंगे। चिकित्सा कर्मी इन पी पी ई का उपयोग कोरोना से बचाव एवं उपचार के लिए करेंगे। अभी तक कुल 250 पी पी ई बनाए गए हैं। हर दिन लगभग 80 पी पी ई का उत्पादन किया जा रहा है।

ललित नारायण मिश्र रेलवे चिकित्सालय मे कोरोना से बचाव एवं उपचार के लिए आइसोलेशन/कोरंटाइन वार्ड में 200 बेड का प्रावधान किया गया है। गोरखपुर कारखाना में निर्मित  18000 फेस मास्क, 100 फेस शील्ड एवं 70 गाऊन ललित नारायण मिश्र रेलवे