प्रदेश में अब ऐसा कोई भी जनपद नहीं है, जहां वेंटिलेटर बेड की व्यवस्था न हो : अपर मुख्य सचिव, गृह
May 7, 2020 • गुरुकुल वाणी
 
लखनऊ : कोरोना वायरस के संबंध में अपर मुख्य सचिव, गृह व सूचना एवं प्रमुख सचिव स्वास्थ्य की प्रेसवार्ता..
 
अपर मुख्य सचिव, गृह व सूचना अवनीश अवस्थी का बयान -

मुख्यमंत्री ने प्रवासी कामगार/श्रमिकों को रोजगार दिलाने के लिए कार्ययोजना बनाने पर आज विशेष बल दिया है,रोजगार के लिए मनरेगा, MSME, ODOP, विश्वकर्मा श्रम सम्मान, महिला स्वयं सहायता समूह, गौ आश्रय स्थलों को दुग्ध समितियों के साथ जोड़ने व पौध नर्सरी आदि को लेकर एक विस्तृत कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए गए हैं, मुख्यमंत्री  ने यह भी निर्देश दिए हैं कि जो भी संचालित औद्योगिक इकाइयां हैं, उनके माध्यम से प्रत्येक दशा में कामगारों को रोजगार दिया जाए।

प्रदेश में 15294 औद्योगिक इकाइयां चल रहीं हैं, सूक्ष्म श्रेणी की 64000 इकाइयां काम कर रहीं हैं, 72 इकाइयों में सैनिटाइजर, मास्क PPE आदि का निर्माण हो रहा है,प्रवासी कामगार पैदल न जायें, 43 ट्रेन अबतक प्रदेश में आ चुकी हैं,51000 से ज्यादा श्रमिक प्रदेश पहुँच चुके हैं, 9 मई को पहली फ़्लाइट शारजाह से लखनऊ आयेगी।

मंडियों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जा रहा है,अबतक 188 के अंतर्गत 11 हज़ार से ज्यादा लोगों पर मुकदमा दर्ज,16 करोड़ से ज्यादा समन शुल्क वसूला गया है।

अद्यतन गेहूँ ख़रीद हेतु प्रदेश सरकार द्वारा 5748 क्रय केंद्र स्थापित किए गए हैं। आज तक कुल 139.21 ( MSP पे 100.41 एवं मंडी में 38.80 ) लाख क्विंटल की ख़रीद हो चुकी है।

लॉकडाउन 3 के अंदर 60000 औद्योगिक इकाइयों में से 54000 इकाइयां 631करोड़ रुपए वेतन का वितरण कर चुकी हैं। जो सतत इकाइयां हैं वो 374 हैं इन इकाइयों में 53900 कर्मी अभी कार्यरत हैं।

पिछले दो दिनों में सभी जनपदों को वेंटिलेटर प्रदान किए गए हैं। प्रदेश में अब ऐसा कोई भी जनपद नहीं है, जहां वेंटिलेटर बेड की व्यवस्था न हो। उत्तर प्रदेश ऐसा करने वाला पहला राज्य है, यह एक बड़ी उपलब्धि है। 

प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, अमित मोहन प्रसाद का बयान  

हमारे प्रदेश में अन्य राज्यों से बहुत बड़ी संख्या में प्रवासी आ रहे हैं, स्क्रीनिंग के बाद वे विभिन्न गांवों या शहरों में जाएंगे। उनके लिए 21 दिन के होम क्वारंटाइन की व्यवस्था की गई है| 

कोविड-19 के अलावा अब ऐसा सीजन भी आ रहा है जब और भी संक्रामक बीमारियां जैसे चिकनगुनिया, डेंगू, मलेरिया आदि होने की संभावना रहती है। इसके लिए भी पहले से तैयारी करना आवश्यक है,यदि ये अस्पताल प्रशिक्षण प्राप्त कर सावधानी के साथ लोगों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करा रहे हैं तो यह उनके द्वारा समाज के लिए एक बड़ा योगदान होगा,संक्रमण के समय में जब लोग कोविड ही नहीं बल्कि नाॅन कोविड समस्याओं से भी परेशान हैं तो ऐसे में इन अस्पतालों को आगे आना चाहिए और लोगों को चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध करानी चाहिए

हेल्पलाइन नम्बर 1800 180 5145 पर काॅल करके कोविड-19 के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। यदि किसी में ऐसे कोई लक्षण हैं तो वे निःशुल्क जांच व चिकित्सकीय सुविधा भी ले सकते हैं,यदि किसी को नाॅन कोविड के बारे में भी कोई जानकारी चाहिए तो हमारे ऑपरेटर, संबंधित पैनल के चिकित्सकों से कनेक्ट कर देंगे और आप घर बैठे चिकित्सकीय परामर्श प्राप्त कर सकेंगे

संक्रमण से बचाव के लिए बार-बार साबुन व पानी से हाथ धोना न भूलें, सोशल डिस्टेंसिंग जरूर मेनटेन करें, कम से कम दो गज की दूरी अवश्य बनाकर रखें,साथ ही अपने मुंह और नाक को मास्क से ढक कर रखें, रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए आवश्यक चीजों का सेवन करते रहें| 

प्रदेश में कुल एक्टिव 1868 केस 
कुल उपचारित - 1130
61 की मौत
3059 कुल संक्रमित मरीज

कल 4584 सैंपल टेस्ट हुए है ।
110534 कुल टेस्ट पूरे प्रदेश में हुए है । 

459 पूल टेस्ट कल हुए ।