प्रकृति के साथ अनावश्यक खिलवाड़ मानव के लिये हानिकारक : तनुप्रियंका
April 13, 2020 • गुरुकुल वाणी


कोरोना के दुष्प्रभाव से बचते हुए मानव व मानवता की करें रक्षा
भोजपुरी माटी की उपज बाबा विश्वनाथ की नगरी से लेकर सिनेमा शहर मुम्बई तक अपनी एक अलग पहचान बनाने वाली टी सीरीज की मशहूर लोक गायिका *तनुप्रियंका* ने हिंदी समाचार पत्र *गुरुकुल वाणी* के संवाददाता *रवीश पाण्डेय* से एक भेंटवार्ता के दौरान देश में फैल रही वैश्विक महामारी व  मानव जाति पर मंडरा रहे कोरोना संकट पर बेबाक अपने विचार रखते हुए कहा कि-
कोरोना रूपी वैश्विक महामारी इस समय पूरे विश्व में फैली हुई है जिसे हम सभी कोविड-19 के नाम से जानते हैं जिस तरह यह आपदा आई है पूरे विश्व के लिए यह एक बहुत बड़ी समस्या भी है और बहुत बड़ी चुनौती है  मानव सभ्यता के लिए और साथ ही साथ यह एक सबक भी है हम सभी के लिए कि प्रकृति का उतना ही दोहन कीजिए जितना सभी के लिए सुरक्षित हो प्रकृति के साथ अनावश्यक खिलवाड़ कभी भी किसी के लिए लाभदायक नहीं होता मेरे हिसाब से यह जितनी बड़ी समस्या है इतना ही सरल इसका उपाय है अपने आप को बचाने का सोशल डिस्टेंस,सफाई रखना ,खुद को सुरक्षित रखना और अपने पूरे परिवार को सुरक्षित रखकर ही हम इस कोरोना रूपी महामारी से बच सकते हैं सरकार द्वारा दिए गए सभी दिशा निर्देशों का गंभीरता से पालन करें क्योंकि यह निर्देश हमारी सुरक्षा के लिए है ना ही यह किसी की व्यक्तिगत सोच की उपज है यह महामारी जाति व्यक्ति देश और धर्म को नहीं पहचानती तो हम सभी अनावश्यक अफवाहों से दूर रहकर मानवता का परिचय दें और हर संभव प्रयास करें कि अगर कोई व्यक्ति समस्या में हो तो उसका यथोचित सहयोग करें क्योंकि मानव के साथ मानवता को भी बचाना अति आवश्यक है क्योंकि मैं एक लोक गायिका हूं मैंने निश्चय किया कि मैं अपनी गायकी से अपने फेसबुक आईडी के द्वारा लाख डाउन के दौरान अपने घरों में रह रहे लोगों का हर रोज एक से डेढ़ घंटे गीत संगीत के माध्यम से उन्हें तनाव मुक्त अनुभव कराऊं एवं कोरोना से संबंधित आवश्यक जानकारी और सरकार के दिशा निर्देशों से लोगों को लगातार अवगत कराती रहूं देश हित में मानवता के लिए मेरा यही  योगदान है इसलिए हर रोज शाम 6:00 बजे से अपनी फेसबुक आईडी से मैं ऑनलाइन आती हूं गीत संगीत के साथ।