रेल कर्मचारियों को ‘आन ड्यूटी‘ माना जाय, दिया जाएगा भुगतान
March 25, 2020 • गुरुकुल वाणी

 गोरखपुर 25 मार्च, 2020: भारतीय रेल पर ठेके एवं आउटसोर्स किये गये कर्मचारियों जो कि विभिन्न सेवाओं जैसे गाड़ियों में आन बोर्ड हाउस कीपिंग सेवा, साफ-सफाई, पेण्ट्रीकार, स्टेशन, कार्यालय एवं वाणिज्यिक कार्य-कलापों में लगाये गये हैं, की वर्तमान परिस्थितियों में कठिनाइयों से उबरने के लिये रेल मंत्रालय ने यह निर्णय लिया है कि यात्री सेवाओं के बहाल होने तक ऐसे कर्मचारियों को ‘आन ड्यूटी‘ माना जाय और उन्हें तद्नुसार उसका भुगतान किया जाय। यह नियम उस तरह के कान्टैक्टर पर लागू है, जो मैनपावर बेसिस पर अवार्ड किये गये हैं। इससे भारतीय रेल पर ठेके एवं आउटसोर्स के लगभग 50 हजार कर्मचारी लाभान्वित होंगे।