सपा पिछले विधानसभा चुनाव में अपने पुराने लक्ष्य को साधने में रही फेल
August 11, 2020 • गुरुकुल वाणी

_रवीश कुमार-

सलेमपुर,देवरिया। समाजवादी पार्टी सलेमपुर  बिधानसभा चुनाव मे अपने वोट प्रतिशत  को  बढा  हुआ  चाहे  मान  रही  हो  लेकिन  वास्तविक  आँकड़ा  यह  है  2012 मे  सपा के  मनबोध प्रसाद  लगभग  47884 हजार  वोट  पाकर  भाजपा  के  प्रत्याशी  विजयलक्ष्मी  गौतम को लगभग  16158 वोट  से  शिकस्त  दिया उस  वक्त  कांग्रेस से  प्रत्यासी रहे  रामअधार  लगभग  10096 वोट  प्राप्त कर हार गये  जब  2017 का चुनाव आया तो भाजपा  अपने  प्रत्याशी  विजय  लक्ष्मी गौतम  को  टिकट  न  देकर  अपने  भाजपा  पार्टी  के  पूर्व  ब्लाक  प्रमुख  रहे  काली  प्रसाद  को  टिकट  देकर  चुनाव  मे  दाव  लगाया  वही सपा  ने  अपने  पुराने  प्रत्यासी का  भरोसा  तोडते  हुए  भाजपा  से  2012 चुनाव  की  हारी  हुई  प्रत्यासी  को  टिकट  देकर  चुनाव  के  मैदान  मे  दाँव  लगा  दिया  उस  वक्त  सपा  और  कांग्रेस  एक  साथ गठबंधन मे  मिलकर  चुनाव लड़े   लेकिन  यहा 2017  मे  भाजपा  के  काली  प्रसाद ने 1980के  बाद  2017में  चुनाव  जीतकर  अपना  परचम  लहरा  दिया  वही  सपा  प्रत्यासी   विजयलक्ष्मी  गौतम पुँह  20000से  अधिक  वोट  से  चुनाव  हार  गयी   भाजपा ने  अपना  चुनाव  की समीक्षा  किया  तो  पता  चला  की  सपा  का  2012 मे  47884 वोट और  कांग्रेस  का  10096  वोट  को  मिला  दिया  जाय  तो  57980 वोट  का  आंकड़ा  होता  है  लेकिन  उस  अंक  को  पाने  मे  सपा  प्रत्यासी  फेल  रही  2022  के  विधान सभा चुनाव  को  लेकर  सभी  दल  के  प्रत्यासी   तैयारी   मे  लगे है   वही  इस  बार  सपा   बहुत  सोच  समझकर  प्रत्यासी  उतारने  के  मुड  में है  क्योकी  भाजपा  ने  यह  सपा  से  36 साल के  बाद  यह  सीट  जितने  मे  कामयाब  रही  वही  बसपा  और  कांग्रेस  भी  अपने  नये  तरीके  से  2022  मे  प्रत्यासी  उतारने  का  प्रयास  करेगी  जिससे  अपना  प्रत्यासी  जिताने  मे  सफलता  मिल  सके ।