शहरों से मजदूरों का पलायन रोके सरकार : सुनन्दा
March 28, 2020 • गुरुकुल वाणी

 

लॉक डाउन से मजदूरों के सामने गहराया संकट

बिहार कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेत्री सुनन्दा जी ने एक प्रेसवार्ता के दौरान कहा कि सरकार के बिना योजना बनाये किये गए लॉक डाउन से शहरों में दिहाड़ी मजदूरों के सामने गहरा संकट आ गया है जिससे वे पैदल ही अपने घरों के तरफ चल पड़े हैं। सरकार के इस निर्णय से दुनिया मे भारत के सामने सबसे बड़ा मानवीय संकट आ पड़ा है। ये वे लोग हैं जो अपना घर बार छोड़ अपनी रोजी रोटी के लिए शहरों में दिहाड़ी पर काम करते है। सरकार के इस घोषणा के बाद इनके पास न तो कुछ खाने को है और ना ही रहने के और ना ही घर जाने के पैसे।ऐसे में ये मजदूर दूर दराज के शहरों से अपने घरों के तरफ पैदल ही रुख कर दिए हैं।

सरकार को इनकी सुध-बुध लेने की कोई फिक्र नही। कुछ सामाजिक संस्थाओं व मीडिया के लोगों के पहल पर भी सरकार अभी इनके बारे में कोई निर्णय लेने में विफल दिखती नजर आ रही है। इन मजदूरों के पास न तो कुछ खाने को है और न ही अपने परिवार तक पहुंचने के साधन।

सरकार इनकी बेबसी को समझ कोई ठोस कदम उठाए जिससे इन मजदूरों को घर तक पहुंचाया जा सके और इनके खाने पीने की समुचित व्यवस्था हो सके। लॉक डाउन के चलते जहां इनके रोजगार छीन गए हैं वही इन मजदूरों के सामने रहने खाने की समस्या गहरा गयी है।