शिक्षित बनों, संगठित रहो, संघर्ष करो! : कामरेड प्रेमचंद यादव 
April 14, 2020 • गुरुकुल वाणी

बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर के 129वीं जयंती पर अपने आवास पर दिप प्रज्जवलित तथा पुष्प अर्पित करते हुए कामरेड प्रेमचंद यादव (नागरिक मंच के अध्यक्ष), पुर्व सभासद प्रदिप यादव और अपने बच्चे के साथ।

प्रेम चंद यादव ने कहा आज बाबा साहब के जयंती पर हम सब को उनके विचारों को अपने अंदर ढालने की जरूरत है।
आज देश बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर का 129वा जयंती मना रहा हैं।आज पूरे देश में समाज के शोषित, पिछड़े दलितों पर हमला हो रहा है।

इसी देश में एक गरीब आदिवासी महिला के बच्चे की भात भात कहते-कहते भुख से मृत्यु हो जाती है। दुसरे तरफ इस देश में मेहनतकश गरीब, मजदूर ,बेरोजगार,किसान अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं।

आज़ादी के 70 बाद साल बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर के लिखित संविधान लागू होने के बाद भी गरीब मजदूर के सामने अपने रोटी को लेकर चुनौती है। दुसरे तरफ विद्यार्थी, बेरोजगार नौजवानों, मजदूर किसान अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं।

इसलिए हमें आज के दौर में जातिवाद, सम्प्रदायवाद के खिलाफ एक संगठित आंदोलन की आवश्यकता है।